मंदिरों के चक्कर और दरगाह से दूरी? तो क्या हिंदुत्व की ओर बढ़ रहे अखिलेश यादव!

img

Posted by 1 about 2 year ago

मंदिरों के चक्कर और दरगाह से दूरी? तो क्या हिंदुत्व की ओर बढ़ रहे अखिलेश यादव!

मिर्जापुर. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) की तैयारी में जुटे समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्टीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) इन दिनों मंदिरों के चक्कर तो खूब लगा रहे है, मगर दरगाह जाने से बचते नजर आ रहे है. सपा सुप्रीमो की इस बदली हुई सियासी रणनीति का इशारा तब मिला जब वह मिर्ज़ापुर के दो दिवसीय दौरे पर कार्यकर्ता प्रक्षिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आये. इस दौरान वह विंध्याचल में स्थित मां विंध्यवासनी मंदिर में दर्शन पूजन के लिए पहुंचे. वहां पर उन्होंने विधिवत मां विंध्यवासनी का दर्शन पूजन किया. लेकिन पास ही कंतित शरीफ के नाम से प्रसिद्ध मुसलमानों के हजरत ख्वाजा इस्माइल चिश्ती की दरगाह पर वह नहीं गए. जबकि दरगाह पर अखिलेश यादव के आने को लेकर पूरी तैयारी थी. मुस्लिम समाज के लोग फूल, बुके और दरगाह पर चढ़ाने के लिए चादर लेकर सपा सुप्रीमो का इंतजार करते रहे. इसके लिए दरगाह को सजाया भी गया था. अखिलेश यादव के दरगाह नहीं पहुंचने पर मुस्लिम समाज के लोग निराश दिखे. बता दें कि विंध्याचल में किसी भी पार्टी के बड़े नेता जब भी विंध्याचल मंदिर में दर्शन पूजन के लिए आते हैं तो वे मंदिर के बाद दरगाह पर चादर पोशी करना नहीं भूलते. इससे पहले काग्रेस पार्टी से राहुल और प्रियंका गांधी भी यहां आ चुकी हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि इससे पहले पूर्व पीएम इंदिरा गांधी भी आ चुकी है. सपा से शिवपाल यादव भी आ चुके है. स्थानीय लोग इसे अखिलेश यादव का ही दुर्भाग्य बता रहे हैं. उनका कहना है कि आगामी चुनाव में इसका उन्हें नुकसान भी उठाना पड़ा सकता है. खास बात तो यह रही कि अखिलेश यादव ने अपने दौरे की शुरुआत ही चुनार के सत्तेसगड़ आश्रम में स्वामी अड़गड़ानंद महाराज से मुलाकात के बाद किया. इसके बाद वह पहली बार विंध्याचल में मां विंध्यवासनी के दर्शन पूजन के लिए भी पहुंचे. मगर कंतित दरगाह न पहुंचना कई सवाल खड़े कर रहा है. मस्जिद के देखरेख करने वाले अयूब शाह बताते है कि सपा पार्टी की ओर से हम लोगों को मालूम हुआ. हमारे कैलाश चौरसिया जो पूर्व राज्य मंत्री हैं उन्होंने बताया था की दरगाह शरीफ पर दर्शन करने पूर्व मुख्यमंत्री आएंगे. हमने उनके इस्तकबाल के लिए पूरी तैयारी की. बहुत इंतजार किया, लेकिन उनका आना नहीं हुआ. शनिवार सुबह मालूम हुआ कि आज आएंगे, लेकिन आज भी नहीं आए. इससे सभी के मन में निराशा है.

06-02-2023 12:24:58

img img img img img img img img img img img img img img img img img img img img img img img img
ग़ाज़ीपुर: माता-पिता के सामने ही पुत्र को ट्रक ने रौंदा

संबंधित ख़बरें

img सनाउल्लाह सिद्दीकी को मिली बड़ी जिम्मेदारी img डालिम्स सनबीम स्कूल गांधीनगर में दो दिवसीय ट्रेनिंग कार्यक्रम का आयोजन img ओमप्रकाश सिंह बनाये गए सपा के राष्ट्रीय सचिव img लुटावन महाविद्यालय में होगी अखिलेश यादव की विशाल जनसभा- डॉ वीरेंद्र यादव img विचार गोष्ठी में पहुंचेगी पूर्व मंत्री स्वाती सिंह img 133194 रुपये ऑनलाइन फ्राड करने वाला गिरफ्तार img ताइक्वांडो कलर बेल्ट प्रतियोगिता में 80 खिलाड़ियों को मिली प्रोन्नति img रामचरित मानस विवाद पर बोले महामंडलेश्वर- जो चाहे मुझसे शास्त्रार्थ कर ले हारूंगा तो सन्यास छोड़ दूंगा img ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की मौत img नेपाल हादसे में मृतकों के परिजनों से मिलने पहुँचे जमानिया विधायक ओमप्रकाश सिंह
Load More
Back to top

Share Page

Facebook Twitter Google Pinterest Text Email